Cinderella ki kahani

Cinderella ki Kahani:- If you searching for Cinderella ki Kahani in Hindi, सिंड्रेला की कहानी हिंदी मे, Cinderella’s Story in for Kids and Fairy tales story for reading. This is the right place for a new story of cinderella. Here you also read Hindi Moral Story, Jadui Kahani in Hindi, Pariyon ki Kahani in Hindi and Baccho wali Kahani in Hindi.

Cinderella ki Kahani in Hindi for Kids


सिंड्रेला की कहानी cinderella ki kahani

Cinderella ki kahani

एक बड़ा सा शहर था जहां एक धनवान व्यापारी रहा करता था ।

व्यापारी की पत्नी और उसकी एक लड़की थी जिसका नाम एला था ।

व्यापारी की पत्नी हमेशा बिमार रहा करती थी ।

अपने पत्नी का खुब इलाज करवाया लेकिन उसकी पत्नी ठीक नही हो सकी ।

एक दिन व्यापारी की पत्नी की मृत्यु हो गयी । माँ के मृत्यु के बाद एला घर मे अकेली रहा करती थी ।

अकेले पन मे एला को उसकी माँ की याद आया करती थी ।

एला के पिता व्यापारी थे जिसके लिये उन्हे व्यापार करने बहुत दूर जाना पड़ता था ।

इसलिये एला के पिता किसी विधवा औरत से शादी कर लेते है ।

विधवा औरत के दो बेटियां भी रहती है ।

विधवा औरत अपने बेटियों के साथ व्यापारी के घर बस जाते है ।

व्यापारी एक दिन व्यापार करने जाता है ।

लेकिन बहुत समय होने के बाद भी वह घर वापस नही आता है ।

एला अपने पिता के न आने से घबरा जाती है । घर मे आयी सौतेली माँ एला से नफरत करने लगती है ।

घर का सारा काम एला से करवाती थी । सौतेली माँ आराम करती और अपने बेटियों को भी आराम करने देती जबकी घर का सारा काम एला से करवाती थी ।

Read more :- Pariyon ki Kahani in Hindi

सिंड्रेला की कहानी पढ़ें हिंदी में

एला घर का इतना सारा काम करती थी कि उसे सोने को भी नही मिला करता था । वह काम करते –करते कही भी सो जाती थी ।

सौतेली माँ एला को फटे और पुराने कपड़े पहनने को देती थी ।

एला को उसकी सौतेली माँ नौकरानी बना कर रख दिये थे ।

 एला अपने घर का सारा काम करती थी जिससे वो अंगीठी के किनारे सो जाती थी ।

सुबह होते ही उस पर अंगीठी की राख ( सिंडर ) पड़े होते थे ।

जिससे उसकी सौतेली माँ की बेटियां सिंडर – एला बुलाती थी

सिंड्रेला इतनी भोली थी कि पशु, पक्षी उसके दोस्त बन गये थे ।

जब भी सिंड्रेला नाराज होती थी तो पक्षी उसे खुश करते थे ।

एक दिन राज्य मे एक घोषणा हुआ कि राज महल मे एक आयोजन रखा गया है ।

जिसमे राज्य के सारे लड़कियों को बुलाया गया है ।

5 pariyon ki kahani cinderella

जिसमे से राजा के राज कुमार किसी एक लड़की को पसंद करेंगे और उससे राजकुमार का विवाह होगा ।

राज्य के सारे लड़कियाँ तैयार हो गयी । सौतेली माँ की दोनो बेटियां भी तैयार हो रही थी ।

जब सिंड्रेला भी साथ जाने के लिये पुछी तो सौतेली माँ ने उसे मना कर दिया ।

सौतेली माँ और उसकी दोनो बेटियां चली गयी ।

सिंड्रेला के पास कोई अच्छा कपड़ा पहनने के लिये नही था ।

सिंड्रेला (Cinderella) जब अपने मम्मी के पुराने कपड़े देखे तो वो भी फटा हुआ था ।

वह उसे पहन कर देखी तो बहुत सारे जगहों से फटा था । सिंड्रेला(Cinderella) जल्दी से कपड़ा सिलने लगी ।

उसकी दोस्त चिड़िया और सफेद चुहे भी उसकी मदद करने लगे । फिर भी सिंड्रेला जल्दी नही सिल पायी ।

और खुब रोने लगी । सिंड्रेला को उदास देखकर एक परी प्रकट हुई और सिंड्रेला से कारण पुछी ।

सिंड्रेला ने सारी बात बताई । परी अपनी जादुई लकड़ी से सिंड्रेला(Cinderella) के कपड़े को एक सुंदर से कपड़े मे बदल दिया ।

परी सिंड्रेला के पैर मे फटे जुते के जगह हीरे जैसा चमकता जुता बना दिया । बाजु मे एक कद्दू का झाड़ था जहां से कद्दु था ।

परी उसे रथ बना दिया दोनो चुहो को घोड़ा बना दिया और चिड़िया को रथ चालक बना दिया ।

सिंड्रेला जाने के तैयार हो गयी थी । लेकिन परी जाते – जाते सिंड्रेला(Cinderella) को एक बात बता दिया कि यह जादू केवल आधी रात तक चलेगा उसके बाद जादू ख़त्म हो जायेगा ।

सिंड्रेला की कहानी पढ़ें

वह तुरंत अपने रथ से राज महल पहुची । महल मे पहुचते ही सब उसे देखने लगे ।

राज कुमार उसे देखते की देखता रह गया । सिंड्रेला(Cinderella) को देखकर सारे लड़कियाँ जलने लगी ।

सिंड्रेला जैसे ही महल मे पहुची की राजकुमार ने सिंड्रेला के साथ नृत्य करने के लिये आमंत्रित किया ।

सिंड्रेला और राजकुमार दोनो खुब नृत्य किये । सिंड्रेला(Cinderella) नृत्य के चक्कर मे परी की बात ही भुल गयी थी ।

अचानक मे घड़ी मे समय बजा तो सिंड्रेला को समय याद आया और घड़ी मे देखा तो समय हो चुका था ।

सिंड्रेला तुरंत वहा से भागी तो रस्ते मे उसका एक जुता निकल गया ।

फिर भी सिंड्रेला भागती रही । रस्ते मे ही उसका जादू खत्म हो गया ।

फिर भी सिंड्रेला भागती रही और अपने घर पहुच गयी । राज कुमार उसका जुता उठा लेता है ।

कुछ दिन ही बिते लेकिन राजकुमार के मन से सिंड्रेला(Cinderella) का प्यार नही गया वो घोषणा दे दिया की गांव के जिस लड़की के पैर मे जुता आयेगा ।

राजकुमार और सैनिक पुरे गाव की लड़कियों को जुता पहनाया लेकिन किसी को नही आया ।

अंत मे वो सिंड्रेला के घर पहुचे और पुछे तो सौतेली माँ ने अपने दोनो बेटी को पहनने के लिये कहा ।

लेकिन जुता किसी को नही आया अंत मे सिंड्रेला नजर आयी तो सैनिक

उसे जुता पहनाये तो जुता इस तरह से आ गया कि मानो उसी के लिये जुता बना हो ।

राज कुमार तुरंत सिंड्रेला(Cinderella) के पास आया और शादी की इच्छा जताया ।

सिंड्रेला(Cinderella) बहुत ख़ुश हो गयी और हा बोल दी ।

राज कुमार उसे खुशी खुशी अपने महल ले गया । दोनो की शादी धुम धाम से हो गयी ।

Cinderella ki Kahani Video Hindi Mai

Cinderella ki kahani

 

Snow White or Cinderella ki Kahani


बंदर का पंजा 

monkeys paw story in hindi
monkeys paw story in Hindi

एक कनकपुर गांव मे श्याम शेठ नाम का शेठ रहता था । शेठ बहुत लालची और घमण्डी था। उसके पास धन दौलत बहुत थे ।

फिर भी धन पाने की लालच मे रहता था ।

इस प्रकार वह धन की लालच मे एक जंगल मे पहुच गया वह जंगल मे नाराज होकर घुम रहा था ।

तभी एक साधू की नजर उस पर पड़ा तो साधू ने पुछा :- क्यो श्याम शेठ आप बड़े नाराज लग रहे हो ।

शेठ ने कहा :- हा मैं नाराज हूँ मुझे पैसों की आवश्यकता है ।

साधू को पता था कि श्याम शेठ अमीर है फिर भी पैसो की जरुरत है ।

साधु पूछें :- क्यो तुम्हे पैसो की जरुरत है ।

श्याम शेठ :- गुरु जी मुझे और भी जमीन खरीदने है । इसलिये, क्या आप मेरी मदद कर सकते हो ।    

साधु उसके लालच को समझ जाते है और उसे एक बंदर का पंजा देते है

साधु :‌- ये पंजा कोई साधारण पंजा नही है । यह तुम्हारा तीन ईच्छा पुरी करेगा और तीन विनाश भी करेगा ।

यह एक भयानक पंजा है ।

फिरभी श्याम शेठ बंदर का पंजा ले लेते है और चले आते है  ।

घर आकर उन्होने पहली ईच्छा बोला की मुझे एक घर भर सोना चाहिए

बंदर का पंजा की कहानी पढ़ें हिंदी में

दुसरे दिन ठीक सुबह उनके घर मे बहुत सारा सोना और साँप से मरा उनका बेटा दिखाई देता है ।

श्याम शेठ समझ जाते है कि एक इच्छा मिली और एक विनाश हो गया ।

उनकी पत्नी खुब रोने लगती है और बेटे को वापस मांगने लगती है । लेकिन श्याम शेठ उनकी बात नही मानता है ।  

दूसरी इच्छा कहा :- हिरे मोती से घर भर जाने चाहिए । कि दुसरे ही दिन श्याम शेठ  कि पत्नी की मुत्यु हो गई ।

और घर मे सभी जगहो पर हिरा मोती से चमक उठे ।

उनकी पत्नी कि मुत्यु से श्याम शेठ खुब दुखी होकर रोने लगे । फिर सोचा की मेरी पत्नी अब कैसे मुझे वापस मिलेगी ।

श्याम शेठ ने दो ईच्छा माँग चुके थे । उनका तीसरा ईच्छा माँगने का समय आ चुका था ।

वह तीसरा ईच्छा को लेकर बहुत दुखी और चिंताग्रस्त थे ।

बहुत सोचा समझा परंतु लालच व्यक्ति का विनाश ही करती है ।

वह तीसरी ईच्छा मे कहा की मेरी पत्नी मुझे वापस चाहिए ।

तुरंत बंदर का पंजा काम कर गया, उसकी तीसरी ईच्छा के रूप मे उसकी पत्नी तो वापस जिवित हो गयी ।

परंतु तिसरा विनाश भी हो गया ।

पूरे घर का दिवाल यहा वहा ढ़ह गया छत, दिवाल, गिरने से श्याम और उनकी पत्नी दोनो उसमे दबकर मर गये ।


 

Cinderella Story for Kids in English

cinderella ki kahani in hindi

There was a big city where a wealthy businessman lived. The businessman had a wife and a girl named Ella.

The merchant’s wife was always sick. The merchant’s got his wife treated with the doctor but his wife could not recover.

One day the businessman’s wife died. Ella lived alone at home after her mother’s death.

Ella used to remember her mother alone. Ella’s father was a businessman, for which he had to go very far to do business.

So Ella’s father marries a widowed woman. The widowed woman also has two daughters.

The widowed woman settles with her daughters at the merchant’s house. The merchant goes to trade one day.

But even after a long time, he does not return home. Ella was terrified of her father’s absence. The stepmother at home starts hating Ella.

Ella got all the housework done. The stepmother used to relax and let her daughters also rest while Ella got all the housework.

Ella used to do so much household work that. She used to fall asleep while working.

The stepmother used to give Ella torn and worn old clothes.

Ella used to do all the work of her house. Sometimes she slept on the side of the chimney while working.

As soon as the dawn, there was dust of the fireplace on it. Which called her stepmother’s daughters Cinder-Ella

Cinderella Story for Kids

Cinderella was so naive that animals, birds became her friends. Whenever Cinderella was sad, so the Birds used to make her happy.

One day an announcement was made in the state that an event has been organized in the Raj Mahal. In which all the girls of the state had called.

Of which Prince would like any girl and he would be married to a prince.

All the girls in the state were ready. The stepmother’s two daughters were also getting ready.

When Cinderella asked to go along, the stepmother refused him. The stepmother and both of her daughters left.

Read New Cinderella Story for kids

Cinderella had no good clothes to wear. When Cinderella saw her mother’s old clothes, she was also torn.

When she saw him wearing it, he was torn from many places. Cinderella quickly stitching the cloth.

His friend sparrow and white pimples also started helping her. Still, Cinderella used unable to sew fast.

And started crying very well. Seeing Cinderella depressed, an angel appears and asks Cinderella for a reason.

Cinderella explained the whole thing. The angel transformed Cinderella’s clothes from her magic wood to a beautiful cloth.

The fairy made Cinderella’s shoeshine like a diamond in place of a torn shoe. There was a pumpkin tree.

The angel made him a chariot, made both white rats a horse and made the bird a chariot driver.

Cinderella agreed to go. Before going to the fairy, she told one thing to Cinderella that this magic would only last till midnight, after that the magic would end.

Cinderella immediately reached the Raj Mahal in her chariot. As soon as he reached the palace, everyone started seeing him.

Prince kept looking at him. Seeing Cinderella, all the girls started burning.

As soon as Cinderella arrived at the palace, the prince invited her to dance with Cinderella.

Cinderella and Prince both danced well. In the affair of Cinderella dance, the matter of fairy was forgotten.

Best Cinderella Kids Story Video

Suddenly, time rang in the clock, Cinderella remembered the time and when she looked in the clock, and then it was time for the magic to end.

Cinderella ran away immediately and she missed a shoe on the road. Still, Cinderella kept running. His magic ended on the way.

Still, Cinderella kept running and reached her home.

Prince lifts the shoe of Cinderella.

Sometime later, only a few days but Cinderella’s love did not go through the mind of the prince, he announced that the girl whose foot will fall on this shoe. Prince will marry her

The prince and soldiers put on a shoe to the girls of the entire village, but no one comes any foot in the shoe.

Finally, he reached Cinderella’s house and asked, the stepmother asked her two daughters to wear it.

But no one foot came to the shoe, finally, when Cinderella was seen, they Put the shoe on Cinderella’s foot, then the shoe came in such a way that it was made for her.

Prince immediately came to Cinderella and expressed her desire to marry. Cinderella was very happy and said yes.

Prince took him happily to his palace. Both got married with pomp.

Read More:-

Jadui Darwaja

Sabji ka Raja

bhoot wali Kahani

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *