Jadui Pen

Jadui Pen:- Friends, the story of the magical pen is the funniest story that is more fun to read. Friends, we mostly see the story of the Jadui Pen on YouTube, but a lot of work is read by the people. But I have brought a story for you to read, which you will like, you can read it by searching on Google.

jadui pen
jadui pen

Jadui Pen Story for Kids

दोस्तों जादुई पेन की कहानी सबसे मजेदार कहानी है जिसे पढ़ने में ज्यादा मजा आता है | दोस्तों हम ज्यादातर जादुई पेन की कहानी यूट्यूब में देखते है लेकिन बहुत ही काम मात्रा में पढ़ने वाले होते है | लेकिन में आपके लिए पढ़ने योग्य कहानी लाया हु जो आपको पसंद आएगा इसे आप गूगल पर सर्च करके पढ़ सकते है। 

जादुई पेन की कहानी हिंदी

jadui pen

एक किसान था । वह बहुत गरीब था । वह हमेशा अमीर होने का सपना देखता था । लेकिन उसके पास धन कि कमी के कारण कुछ कर नही पा रहा था । उसका चित्र बनाने की कला खुब अच्छी थी ।

वह रोज चित्र का व्यापार करने दूसरे गाँव जाता था । एक दिन वह किसान दूसरे गाँव से चित्र का व्यापार करके वापस आ रहा था कि रस्ते में उसे एक पेड़ दिखाई दिया जिसके तने में एक खड्डा था । वह पेड़ कुछ अजीब सा दिखाई दे रहा था ।

वह किसान पेड़ के करीब गया तो तने के खड्डे मे कुछ चमक रहा था । किसान ने जब उसे निकाला तो वह एक पेन था जिसके उपर एक हीरा चमक रहा था । किसान पेन को लेकर घर आ गया । उसने बड़े गौर से पेन को देखा कि पेन कि नोक बड़ा अजीब था ।

Jadui Pen Story for Kids

किसान ने उस पेन से एक चित्र बनाने कि तैयारी की । उसने पेन से प्राकृतिक चित्र बनाना शुरु किया और कहा :- आज एक सुंदर सा प्राकृतिक चित्र बनाऊँगा कि इतने में पेन उसके हाँत से निकल्कर तुरंत एक सुंदर सा प्राकृतिक चित्र अपने आप बना दिया । किसान पूरी तरह चौक गया कि इस पेन ने अपने आप एक सुंदर सा प्राकृतिक चित्र बना दिया ।

किसान उस चित्र को बेचने दूसरे गाँव गया । उस एक चित्र का उसे खुब ज्यादा सोना महोर मिला । वह धीरे‌ – धीरे‌ चित्र से व्यापार को बढ़ा दिया । उसके चित्र दूर – दूर के गाँव वाले खरीदने आने लगे । वह धीरे‌ – धीरे खुब अमीर हो गया । जादुई पेन ने उस किसान को खुब कमाकर दिया । वह पुरे गाँव मे प्रख्यात था । वह गाँव के गरीब किसानो कि मदद भी करता था ।

उसी गाँव का राजा था सिक्खसिंह था । राजा को एक सुंदर मुकुत चाहिये था ।

राजा ने कहा :- जो मेरे लिये एक सुंदर कला से मुकुट बनयेगा मैं उसे सौ सोनामहोर का ईनाम दूँगा ।

जादुई पेन की कहानी बच्चों के लिए  

यह बात पूरे गाँव मे फैल गयी । कुछ लोग उस कलाकर किसान को इस सौ सोनामहोर के ईनाम के बारे मे बताया । 

वह किसान ने सोचा बस मुकुट मे सुंदर डिजाइन बनाने के लिये राजा ने सौ सोनामहोर का ईनाम रखा है ।

वह किसान दुसरे दिन दरबार मे सुंदर सा मुकुट बनाने के लिये राजा से एक दिन कि मोहोरत माँगी ।

राजा ने स्वीकार करके अनुमती दे दी ।

वह किसान दुसरे दिन खुब सुंदर  मुकुट बनाकर राजा के सामने पेश किया ।

मुकुट इतना सुंदर था कि दरबारी भी बोल उठे कि क्या सुंदर मुकुट है ।

राजा बहुत खुश थे सुंदर मुकुट देखकर । राजा ने खुशी ‌– खुशी दो-सौ सोनामहोर ईनाम मे देने लगे ।

किसान ने मना कर दिया और कहा :- महाराज आप इस सोनामहोर को प्रजा के विकास, अकाल मे उपयोग के लिये रखो ।

यह बात सुन राजा बहुत खुश हुए । और दरबार मे उसकी जय ‌- जयकार हु़ई ।

 

जादुई बोतल( Jadui Botal)

jadui bottle ki kahani in hindi

राजस्थान के रेगिस्तान मे एक सुर्चिल्लि नाम का एक व्यापारी व्यापार करने आया था ।

वह व्यापार करने के लिये सामान और ऊँट लेकर आया कि रास्ते मे उसे कुछ डाकू मिले और  उसका सारा समान और ऊँट को डाकू लोग लेकर चले गये थे ।

सुर्चिल्लि रेगिस्तान मे अकेला भटक रहा था । अधिक धूप के कारण  सुर्चिल्लि को प्यास खुब तेज लगी थी ।

सुर्चिल्लि पानी ढूँढने लगा । लेकिन सभी जगह रेगिस्तान के अलावा कुछ दिखाई नही दे रहा था ।

वह पानी खुब ढूँढा लेकिन पानी नही मिला । एक जगह सुर्चिल्लि को बालू रेती मे थोड़ा सा पानी जैसा दिखाई दे रहा था । सुर्चिल्लि जब बालू को हाथ से हटाया तो उसे एक बोतल दिखाई दिया ।

सुर्चिल्लि बोतल को उठाकर जैसे ही खोला तो उसमे से एक जादुई जीन निकला और कहा :- आप केवल तीन इच्छा ही मेरे से मांग सकते हो । और में  आपकी तीन ही इच्छा पुरी करूँगा । और आजाद होकर गायब हो जाऊँगा ।

आप अपना पहला इच्छा मांगो मेरे आका ?

Jadui Pen Story in Hindi for Kids

(सुर्चिल्लि को लालच आ गया और कहा )

सुर्चिल्लि :- मुझे एक आलीशान महल चाहियें

( जीन के चुटकी बजाते ही सामने अलीशान बंगला खड़ा हो जाता है। )

जीन :- दुसरी इच्छा मांगो मेरे आका ?

सुर्चिल्लि :- मेरे महल मे खुब सारा सोना, चांदी,  हीरा, मोती होना चाहियें और काम करने वाले नौकर होने चाहियें ।

( जीन के चुटकी बजाते ही सामने बंगले मे खुब सारा सोना, चांदी,  हीरा, मोती और  काम करने वाले नौकर आ जाते है । )

जीन :- तीसरी इच्छा मांगो मेरे आका ?

सुर्चिल्लि :- मुझे आने जाने के लिये ऊँट चाहि़ए एवं पानी चाहियें

( जीन के चुटकी बजाते ही सामने ऊँट के झुण्ड आ जाते है और महल के सामने पानी का छोटा सा तालाब आ जाता है और जीन गायाब हो जाता है।)

सुर्चिल्लि जैसे ही तालाब के पास जाता है । कि तुरंत पुरा बालू पानी को खीच लेता है और पानी सूख जाता है ।

सुर्चिल्लि पानी के लिये तरस उठता है । वह अपने महल मे कुछ ही समय तक ज़िंदा रह पाता है ।

पानी न पाने के कारण सुर्चिल्लि की उसी महल मे मृत्यु हो जाती है ।

Jadui Pen Story in English for Kids

Was a farmer. He was very poor. He always dreamed of getting rich. But he was unable to do anything due to lack of funds. His art of drawing was very good.

He used to go to other villages to trade paintings every day.

One day the farmer was coming back from another village to trade the painting on the way he saw a tree with a ravine in its trunk. The tree looked strange.

When the farmer went closer to the tree, there was something shining in the stem of the tree.

When the farmer took it out, it was a pen, with a diamond shining above it.

The farmer came home with a pen. He looked at the pen very carefully that the tip of the pen was very strange.

The farmer set out to take a picture with that pen.

He started drawing natural images with pens and said: – Today I will make a beautifully natural picture so that the pen was made out of his interest and immediately made a beautifully natural picture of himself.

The farmer was fully aware that the pen itself created a beautiful natural picture.

Jadui pen story in Hindi

Magical Pen Story in English

The farmer went to another village to sell the picture. He got a lot more gold coin of that one picture.

He gradually expanded his business. People from far away villages started to buy his pictures.

He gradually became rich. The magical pen gave that farmer a good fortune.

He was famous in the entire village. He also helped the poor farmers of the village.

Sikh Singh was the king of the same village. The king wanted a beautiful crown.

The king said: – I will give a prize of hundred gold coins who will make the crown with beautiful art for me.

This thing spread throughout the village. Some people told that artisan farmer about the prize of this hundred gold coin.

That farmer thought that just to make beautiful designs in the crown, the king will give a reward of a hundred gold coins. That farmer requests to the king for one day to make a beautiful crown in the court on the second day.

The king accepted and approved.

The farmer made a beautiful crown on the second day and presented it to the king.

The crown was so beautiful that even the courtier said what a beautiful crown it is.

The king was very happy to see the beautiful crown. The king happily gave two-hundred gold coins to the prize.

The farmer refused and said: No Sire, keep this gold coin for use in the development of the people and famine.

The king was very happy to hear his word. And his cheers in levee.

Read More:-

baccho ki Kahani in Hindi

Pariyon ki Kahani in Hindi

Bhoot ki Kahani in Hindi

Chudail ki kahani

Bhoot ki Kahani

Jadui Kahani

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *