Pariyon ki Kahani | Pari ki Kahani

Pariyon ki Kahani in Hindi | Pari ki kahaniya

If you are finding for Pariyon ki kahani in hindi, pari ki kahaniya & परियों की कहानी. Here pariyon wali kahani and fairy tale pari story for kids Hindi. This is right place for pariyo wali kahani, pariyon ki kahani hindi mai and kahani pariyon ki. Here you can get pariyon ki kahani in hindi and more. We also share with you jadui pari ki kahani. You also read Cinderella ki kahaniJadui Ghada (जादुई घड़ा) and Panchtantra ki Kahani.

Friends, we all enjoy reading stories, for which YouTube is the first place from where we can easily watch stories, after that if we want to read, then we can search and read from Google, Bing, Yahoo. There are many sites where you will get to read funny stories. Here we have also kept stories of girls which you will like.

pariyon ki kahani

Fairy Tale Story for Kids

This story volume is receiving a large volume. We saw in our website so, it’s large volume of requests coming from search engine. Its a large requests from your network. it mean it has requests from google search engine. The YouTube receiving a large volume story traffic. But some users not to show video. they like has to read story so large volume of requests are receive.

Here we provide angel story to receiving a large volume of traffic. more traffic requests gain from your network. This is helpful for us. we can receiving a large volume of traffic and large volume of requests. some requests from your network, some requests gain from your network with image result and some requests gain from your network with social media. So we thought that we should write an article on this keyword for receiving a large volume of traffic and large volume of requests.

प्रामाणिक कुल्हाड़ा(Pramanik Kulhada)

pariyon ki kahani

pariyon ki kahani

एक गांव था गांव मे दो भाई रहा करते थे । एक का नाम गोलु और दुसरे का नाम भोलु था ।

गोलु स्वभाव मे समझदार और ईमानदार था । जबकि भोलु अपने नाम के जैसा नही था वह स्वभाव मे आलसी और मूर्ख था ।

दोनो भाई अलग अलग घर मे रहते थे । दोनो लकड़ी काटकर अपना – अपना गुजारा चलाते थे ।

गोलु अधिक महेनत कर के लकड़ी काटता और बाजार मे बैचता था । जब की भोलु जंगल मे जाता और पेड़ के निचे आराम करता था ।

एक दिन गोलु जंगल मे लकड़ी काट रहा था के अचानक मे उसका कुल्हाड़ी हाथ से निकलकर नदी मे गिर गया ।

गोलु वही उदास होकर बैठ गया । अचानक मे नदी मे से एक परी(Pari) सोने का कुल्हाड़ी लेकर प्रकट हुई और गोलु से बोली ।

परी(Pari) :- क्या ये तुमहारा कुल्हाड़ी है ?

गोलु :- नही ये मेरा कुल्हाड़ी नही है ।

( परी वापस नदी मे जाती है और चाँदी का कुल्हाड़ी लाकर बोलती है )

परी(Pari) :- क्या ये वाला तुमहारा कुल्हाड़ी है ?

गोलु :- नही ये भी मेरा कुल्हाड़ी नही है ।

( परी(Pari) वापस नदी मे जाती है और लोहे का कुल्हाड़ी लाकर बोलती है )

प्रामाणिक कुल्हाड़ा

परी :- क्या ये कुल्हाड़ी है ?

गोलु :- हां ये मेरा कुल्हाड़ी है ।

परी गोलु के ईमानदारी से खुश होकर उसे सोना, चाँदी और लोहे का कुल्हाड़ी दे देती है ।

गोलु खुश हो कर घर जाता है और अपनी पत्नी को सारी बाते बता देता है ।

भोल की पत्नी भी गोलु के पास रहे कुल्हाड़ी को देख लेती है और गोलु के पत्नी से उसके बारे मे पुछती है तो गोलु की पत्नी भी सारी बात भोलु के पत्नी को बता देती है ।

भोलु की पत्नी भोलु को ये सब बाते बता देती है और भोलु तुरंत जंगल मे लकड़ी काटने के लिये चला जाता है ।

भोलु भी नदी के पास लकड़ी काटते – काटते अपना कुल्हाड़ी को नदी मे फैक देता है । और उदास होकर बैठ जाता है

फिर वही परी अचानक मे नदी मे से सोने का कुल्हाड़ी लेकर भोलु के सामने प्रकट होती है और भोलु से बोलती है ।

परी(Pari) :- क्या ये तुमहारा कुल्हाड़ी है ?

भोलु :- हां, हां यही मेरा कुल्हाड़ी है ।

( परी तुरंत समझ जाती है कि भोलु लालची है ) फिर परी(Pari) कहती है ।

परी(Pari) :- मुर्ख लालची तु सोने का कुल्हाड़ी पाने के लिये अपना कुल्हाड़ी खुद पानी मे फैक दिया जा तुझे कोई भी कुल्हाड़ी नही मिलेगा ।

यह बोलकर परी गायब हो गयी और भोलु वही पछता रहा है ।

Read More :-

Chudail ki kahani

Jadui Pencil

 

Pariyon ki Kahani in Hindi

Some people are interested in reading stories. By which those people search on Google so that they can get to read mostly requests from your network. Today there are many search network but most requests from your network. because your network is larger then other network.

So we receiving a large volume of requests from your network and receiving a large volume of this story. We provide story to read for large volume of requests. The google is most and big search engine. And this story requests from your network. We are site admin so we recive large volume of requests of this story named Pariyon ki Kahani. Its requests from your network.

Udane Wala Pankha(उड़ने वाला पंखा)

pariyon ki kahani
pariyon ki kahani

 

एक रामवन नाम का गांव था । गांव मे एक रामू नाम का महेनती व्यक्ति रहता था । वह खुब गरीब था । वह पेड़ की लकड़ी बेचकर अपना गुजरान चलाता था ।

जंगल उसके गांव से बहुत दूर था । उसे घर से जंगल तक जाने मे ही बहुत समय लग जाता था ।

रामू जंगल से एक  पेड़ काटता तो वहा एक पौधा लगा देता था जिससे वहा दुसरा पेड़ उग सके । इस प्रकार रामू जल्दी जाता था और पेड़ काटकर पौधा लगा देता ।

उड़ने वाला पंखा

एस ही बार – बार करने से एक बार रामू पौधा लगा रहा था कि तभी भगवान प्रकट हो गये । और बोले

भगवान :- रामू मै तुमहारे इस कार्य से बहुत खुश हु । मांगो जो वरदान मांगना है मांगो !

रामू :- भगवान… मै रोज अपने गांव से जंगल तक आता – जाता हु । जिससे मुझे बहुत समय लग जाता है और ये जंगल मेरे गांव से ज्यादा दूर है ।

आपके पास कोई एसा उपाय है जिससे मेरा ये परेशानी दूर हो सके ?

भगवान :- मै तुम्हे एक पंखा दे रहा हु । ये पंखा कोई साधारण पंखा नही है ये पंखा जादुई पंखा है

यानी आप ये पंखा पर बैठ कर उड़ सकते हो और लकड़ी भी लेकर उड़कर अपने घर आसानी से जा सकते हो ।

( भगवान पंखा देकर गायब हो जाते है )

रामू लकड़ी काट लेता है और पंखे पर लेकर बैठ जाता है । पंखा तुरंत उड़ने लगता है और रामू उसे दिसा बताता है ।

पंखा रामू के साथ उसके घर पहुँच जाता है । इस प्रकार रामू जल्दी – जल्दी लकड़ी काटता और पैसे कमाता ।

इस प्रकार रामू का काम जल्दी होने लगा और रामू धीरे – धीरे अमीर होने लगा । रामू के पास बड़ा सा बंगला हो गया था और रामू शेठ बन गया ।  

काम करने के लिये दो कारीगर काम करते थे एसे ही एक बार एक कारीगर जंगल मे लकड़ी काटने जादुई पंखा लेकर गया था ।

वह जंगल की लकड़ी कातने के वजाय जादुई पंखा लेकर भाग गया और दुबारा वापस नही आया ।

रामू को जब पता चला तो वह पछताने लगा ।

Pariyon ki Kahani in Hindi

 

Read More :-

Bhoot ki Kahani in Hindi

Latest Happy Birthday Shayari images in Hindi

Happy Birthday Status in Hindi | Latest Birthday Status in Hindi

 Morning Shayari in Hindi

Good Night Love Images in Hindi

Good Night Shayari images in Hindi

 

 

 

ईमानदार रामू(Imandar Ramu)

pariyon ki kahani
pariyon ki kahani

Pariyon ki Kahani

एक गरीब रामू था । वह अपने महेनत से कुछ धन कमाया था । एक दिन उसे तीर्थ मे जाने का विचार आया।

वह तीर्थ करने के लिये धन इकट्ठे किये थे परंतु बचे धन को अगर वह घर पर रखता तो चोर धन को चोरी कर लेगा।

यह सोच रामू धन को सही जगह रखने के लिये सोचा तो अचानक मे उसे याद आया कि रवि शेठ के पास धन को रख देता हु।

जब तीर्थ करके आ जाउंगा तो धन वापस ले लुंगा यह सोच रामू तुरंत धन को लेकर रवि शेठ के पास चला गया

रामू रवि शेठ को तीर्थ जाने की बात कही और धन रवि शेठ को देकर अपने तीर्थ के लिये चल पड़े ।

एक महीने बाद तीर्थ करके रामू वापस अपने गांव आ गया । रामू के पास तीर्थ के सारे धन खर्च हो चुके थे ।

राम रवि शेठ को दिये धन को वापस लेने के लिये गया और तीर्थ का प्रसाद भी लेकर गया ।

रामू रवि शेठ को तीर्थ का प्रसाद दिया और कहा

राम :- शेठ जी मेरा सारा धन तीर्थ मे खर्च हो गया तो मैंने जो धन आपके पास रखे थे वो मुझे वापस चाहीये । 

रवि शेठ :- कौन सा धन, कैसा धन, किसका धन, मै कोई धन नही जानता ?

रामू बहुत समझाया लेकिन रवि शेठ धन वापस नही दे रहा था ।

ईमानदार रामू

रामू उदास होकर वापस आ रहा था कि रस्ते मे उसे एक बूढ़ी माँ मिल गयी । बूढ़ी मा ने रामू से उसके उदास होने का कारण पूछती है तो रामु तुरंत सारी बाते बूढ़ी माँ से बता देता है ।

बूढ़ी माँ :- बेटा तुम चिंता मत करो । मै तुमहारा धन वापस दिलवाकर रहुंगी ।

(बूढ़ी माँ रामू को एक योजना बताती है )

दुसरे दिन बूढ़ी माँ अधिक धन लेकर और रामू भी साथ रवि शेठ के पास आता है ।

बूढ़ी माँ :- शेठ जी मै कल शहर जा रही हु क्या तुम मेरे ये धन को अपने पास रखोगे ?

( इतने मे रामू कहता है )

रामू :- शेठ जी मैंने तुमहारे पास कुछ धन रखे थे । आप मुझे वापस दे दो ।

( शेठ सोच मे पड़ जाता है कि बूढ़ी मा के पास ज्यादा धन है । अगर रामू का धन वापस नही दिया तो बूढ़ी माँ अपना धन मुझे नही देगी ) यह सोच

रवि शेठ :- हां रामू तुमहारा धन मेरे यहा जमा थे ये लो तुमहारा धन ।

रामू अपना धन वापस ले लेता है । कि तभी बूढ़ी माँ कहती है

बूढ़ी माँ :- रह्ने दो शेठ जी, अब मै गांव नही जाउंगी ।

इस प्रकार बूढ़ी माँ रामू को उसका धन लालची रवि शेठ से वापस दिलवा देती है । और रामू को उसका संपति वापस मिल जाता है ।

Pariyon ki Kahani in Hindi with images

Read More :-

baccho ki kahani

bhoot wali Kahani

Jadui Chakki

Jadui Darwaja

New Jadui ped

 

Chokalat ki duniya(चॉकलेट की दुनिया)

pariyon ki kahani
pariyon ki kahani

एक पिंकु नाम का लड़का रहता था । वह हमेशा मम्मी से चॉकलेट खाने का ज़िद करता था । मम्मी उसे कभी कभी चॉकलेट देती थी ।

लेकिन वह हमेशा चॉकलेट मांगता था । इस प्रकार एक बार पिंकु अपने मम्मी से चॉकलेट के लिये पैसे मांगता है लेकिन उसकी मम्मी मना कर देती है

और डाट देती है तो पिंकु नारज होकर अपने कमरे मे जाकर उदास होकर बैठ जाता है । तभी एक परी वहा प्रकट होती है और पूछती है

परी ने कहा :- क्या हुआ पिंकु क्यों उदास हो ।

पिंकु ने कहा :- परी दीदी मुझे चॉकलेट चाहियें । मेरी मम्मी मुझे चॉकलेट के लिये पैसे नही दे रही है ।

परी अपने जादुई छड़ी को घुमाई तो तुरंत पिंकु चॉकलेट की दुनिया मे पहुँच जाता है । चारों तरफ केवल चॉकलेट ही चॉकलेट दिखाई देता है ।

चॉकलेट की दुनिया

चॉकलेट का पेड़, चॉकलेट की नदी, चॉकलेट का घास, चॉकलेट का जमीन, चॉकलेट का पौधा मतलब सभी जगह चॉकलेट ही दिखाई दे रहा था ।

पिंकु खुब सारा चॉकलेट खाया चॉकलेट का घास, चॉकलेट का जमीन, चॉकलेट का पौधा को भी खाया ।

उसका पुरा पेट भर गया । थोड़े देर वहा रहा फिर उसे उसकी मम्मी की याद आने लगी । पिंकु परी दीदी को बुलाया

पिंकु :- परी दीदी मुझे घर जाना है ।

परी :- नही अब तुम नही जा सकते हो ।     

( यह बोलकर परी दीदी गयब हो गयी )

पिंकु रोने लग गया और वहा से निकलने के लिये रास्ता ढूँढने लगा । लेकिन चारो तरफ केवल चॉकलेट ही चॉकलेट था । पिंकु वही बैठकर रोने लग गया ।

परी उसके सामने अपने जादुई छड़ी को घुमाकर एक सीसा ला देती है जिसमे पिंकु का कमरा दिखाई दे रहा था ।  पिंकु जैसे सामने देखा तो एक सीसा दिखाई दिया और सीसे मे उसका कमरा दिखाई दे रहा था ।

पिंकु सीसे के पास गया और उस हाथ लगाया तो उसका हाथ सीसे मे जाने लगा । पिंकु समझ गया की यही रस्ता है बाहर निकलने का ।

पिंकु जैसे ही सीसे मे घुसा कि तुरंत अपने कमरे मे आ गया । और सीसा भी गायब हो गया । पिंकु खुश हो गया कि वह चॉकलेट की दुनिया से बाहर आ गया । तब से पिंकु दुबारा चॉकलेट के लिये मम्मी से ज़िद करना बंद कर दिया ।

The Angels Story for kids

pariyon ki kahani

A boy lived in village. His name was pinku He always insisted on eating chocolate from his mother. Mother sometimes gave him chocolate.

But pinku always asked for chocolate. Thus once Pinku asks her mother for money for chocolate but her mother refuses

Pinku goes to her room in displeasure and sits down sadly. That’s when an angel appears and asks

The angel said: – What happened Pinku why sad.

Pinku said: – Pari Didi I want chocolate. My mother is not paying me for chocolate.

The angel swings her magic wand and immediately reach Pinku and angel chocolate world. Only chocolate appears everywhere.

Chocolate tree, river of chocolate, grass of chocolate, ground of chocolate, the chocolate was visible everywhere.

Pinku ate all the chocolate grass, chocolate ground, also ate chocolate’s leaf and drink chocolatey rivers water

His entire stomach was full. He was there for a while, then he remembered his mother. Pinku request to angel for droping his house.

Pariyon ki Kahani

Pinku: – angel I have to go home.

Angel: – No, you can’t go now.
(Fairy was lost by saying this)

Pinku started crying and finding a way to get out of there. But there was only chocolate on all sides. Pinku sat there and started crying.

The angel turns a magic wand in front of her and brings a mirror in which Pinku’s room was visible. As Pinku looked in front, a mirror appeared and his room was visible in the lead.

Pinku went to mirror and put that hand, then his hand started to mirror. Pinku understood that this is the way to get out.

As soon as Pinku entered the in the mirror, he immediately came to his room. And the mirror also disappeared. Pinku is happy that he has come out of the chocolate world. From then on Pinku again stubbornly refused to to mum for chocolate.

Hello friends what you feel to learn this story. So you feel better to read story you can share this story with your friends, family and other. I know you feel beautiful to read this angel’s story.

Read More :-

Bhoot ki Kahani in Hindi

Latest Happy Birthday Shayari images in Hindi

Happy Birthday Status in Hindi | Latest Birthday Status in Hindi

 Morning Shayari in Hindi

 Night Love Images in Hindi

Neit Shayari images in Hindi

2 thoughts on “Pariyon ki Kahani | Pari ki Kahani”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *